आधार कार्ड क्या हैं?

आधार कार्ड क्या हैं?

भारत के केंद्रीय सरकार की एक एजेंसी UIDAI अर्थात Unique Identification Authority of India इस उद्देश्य पर पहुंचे की सभी भारतीये नागरिकों का जैव-मेट्रिक एवं जन्सान्खिकिये डाटा केंद्रीकृत डाटा बेस में एकत्रित किया जाए। परिणाम स्वरुप इस उद्देश्य हेतु वे ‘आधार कार्ड’ पर पहुंचे जो की केवल कोई एक कार्ड ही नही अपितू विश्व की  सबसे बडी राष्ट्रिय पहचान संख्या की परियोजना है। ये परियोजना भारत के योजना आयोग के अंतर्गत 2009 में प्रारंभ हुई थी।

आधार कार्ड 12 अंको का अदव्तिये पहचान नंबर है। ये व्यक्तियों के पहचान का एक अनुठा प्रमाण है, लेकिन जैव-मेट्रिक जानकारिया जैसे अगुंलियों के निशान, और आँखों के आईरिस के स्केन एकत्रित करने के पश्चात भारत सरकार द्वारा जारी नागरिकता नही है। इसका देश (भारत) में कहीं पर भी उपयोग किया जा सकता है। तथा इस कार्ड के मुख-पृष्ट पर समस्त जानकारियां जैसे-नाम, लिंग(स्त्री/पुरुष), जन्म दिनांक, QR कोड के साथ आधार नंबर आदि दिए होते हैं। QR कोड इसलिए छापा होता है ताकि वो आधार की मौलिकता की पुष्टि करता है। इस कोड में आधार कार्ड उपयोगकर्ता की समस्त जानकारियां इलेक्ट्रॉनिक रूप में उपलब्द रहती हैं। कार्ड के पिछले भाग पर अतिरिक्त जानकारियां जैसे पता,पिता का नाम, आदि छापी होती हैं। यह जानकारियां हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में छापी होती हैं। आधार कार्ड सबसे बड़ी पहचान नंबर परियोजना होने से बड़ी संख्या में सरकारी और गेरसरकारी डाटाबेस से प्रतिलिपि और नकली पहचानों को हटाने में पर्याप्त कुशल है। ये बड़ी आसानी से ऑनलाइन या प्रभावी लागत के तरीके से जचने योग्य है।

What is Aadhaar Card
Aadhaar Card

आधार कार्ड कोन प्राप्त कर सकता है?

पूरे परिवार के लिए एक आधार कार्ड परियाप्त नही है अपितू परिवार के प्रत्येक सदस्य को अपना स्वयं का आधार कार्ड प्राप्त करना होता है। कोई भी व्यक्ति, भलेही, वो किसी उम्र, लिंग,जाती और धर्म का हो, भारत का नागरिक हो वो आधार कार्ड हेतु आवेदन कर सकता है। प्रत्येक व्यक्ति एक बार नामांकन कर सकता है और UIDAI द्वारा निर्धारित सत्यापन प्रक्रिया को उन्हें संतुष्ट करना होता है। कोई भी व्यक्ति यहाँ तक की NRIs आधार कार्ड प्राप्त कर सकता है।

वैध्यता

प्रत्येक व्यक्ति का प्रत्येक आधार कार्ड नंबर जो उसे दिया जाता है वो अदव्तिये होगा तथा जीवन पर्यंत वैध्य रहेगा। भविष्य में आधार कार्ड के नवीनीकरण की आवश्यकता नही है। ये तैयार किआ हुआ आधार कार्ड नंबर, सेवाएं जैसे बैंकिंग, मोबाइल फ़ोन कनेक्शन, और अन्य सरकारी व गेरसरकरी सेवाओं हेतु आसान पहुँच बनाएगा।

क्या आधार कार्ड अनिवार्य है या नहीं?

UIDAI द्वारा प्रदान आधार कार्ड अनिवार्य नहीं है अपितू भारत के सभी नागरिकों के लिए पूर्ण रूप से ऐच्छिक है। लेकिन फिर भी यह अनुशंसा की जाती है कि इसे प्राप्त कर लिया जाए ताकि सरकार की योजनाओं जैसे Pahal DBTL योजना जिससे बैंक खातों में सबसिडी और ऐसी ही अनेक योजनाओं का लाभ उठाने योग्य हो सके।

आधार कार्ड के लाभ

UIDAI द्वारा प्राप्त आधार कार्ड आपके वैधानिक व विशिष्ट पहचान का प्रमाण है जिसे कोई सरकार व कोई निजी कार्यलय नकार नहीं सकते हैं। आधार कार्ड का उपयोग LPG सबसिडी प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है जिसमे सबसिडी की राशि सीधे आपके बैंक खाते में जमा हो जाती है। केवल अपने 17 अंको के LPG उपभोक्ता नंबर को आधार कार्ड से जोड़ दीजिये और सीधे खाते में राशि पहुचनें का लाभ उठाये। आधार कार्ड के द्वारा आप 10 दिनों के अन्दर बिना पुलिस सत्यापन की औपचारिकताओं के पासपोर्ट प्राप्त कर सकते हैं। भविष्य निधि की राशि को भी खताधारक, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के साथ अपने आधार कार्ड नंबर को पंजीकृत करा कर प्राप्त कर सकेगा। आधार कार्ड भारतीये आदान-प्रदान और सुरक्षा बोर्ड द्वारा शेयर बाज़ार में निवेश हेतु पते के प्रमाण के रूप में भी स्वीकार किया जाता है।

इस जानकारी को अंग्रेज़ी में पढनें के लिए “What Is Aadhaar Card?” पर क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *